SINDHI RECIPE OF BHEE PATATA|| KAMAL KAKDI KI SABJI KAISE BANTI HAI ?


SINDHI RECIPE OF BHEE PATATA ( AALO ) || KAMAL KAKDI (LOTUS ROOT ) KI SABJI || AUTHENTIC SINDHI BHEE ALOO

Recipe of Lotus stem with potato sabji

AUTHENTIC SINDHI BHEE ALOO SABJI RECIPE WHICH MADE UP OF LOTUS STEM & POTATO WITH TOMATO, ONION & INDIAN SPICES

कमल ककडी, कमल की जड़ को कहा जाता हैं ।यह जड़े 4 फीट जितनी पानी के अंदर फ़ैली होती है । कमल ककड़ी लम्बे डंठल के रूप में होती हैं,यह बाजार में आसानी से मिल जाती है ।

कमल ककड़ी का उपयोग खाद्य पदार्थ के रूप में किया जाता है ।कई लोगों के लिए यह पसंदीदा फ़ूड में शामिल है। हालांकि, यह अपने स्वादिष्ट स्वाद से अधिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देने वाला होता हैं कमल ककड़ी से हमारे शरीर को कई रूपो में  लाभ मिलता हैं ।कमल ककडी खाने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है ।इसमेें  विटामिन बी6, विटामिन ए, विटामिन सी, मिनरल्स,पोटेशियम, मैग्नेशियम, थाईमिन, जिंक, जैसे पोषक तत्व भरपूर मात्रा में पाये जाते हैं । इसमें आयरन और कॉपर भी अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं ।इसके साथ साथ यह फाइबर और प्रोटीन का बहुत ही महत्व पूर्ण स्त्रोत है ।
कमल ककड़ी में विटामिन बी कॉम्प्लेक्स pyridoxine अच्छी मात्रा में पाया जाता हैं, जो कि मेन्टल हेल्थ के लिए बहुत अच्छा माना जाता हैं । इसके सेवन से ब्लड सर्कुलेशन सुचारू होता है जिससे शरीर का ऑक्सीजन स्तर बढ़ाने में सहायता मिलती है, साथ ही शरीर की एनर्जी लेवल भी बढ़ती है ।
कमल ककड़ी के नियमित सेवन से पथरी जैसी  समस्या को भी ठीक किया जा सकता है ।इसमें डाइटरी फाइबर अधिक मात्रा में होने के कारण शुगर को कंट्रोल करने में मदद करती हैं, जिन लोगों को शुगर की समस्या है या जिनकी फैमिली हिस्ट्री में शुगर की बीमारी हो उन्हें कमल ककड़ी का सेवन जरूर करना चाहिए ।
कमल ककड़ी में पोषक तत्व तो बहोत अधिक मात्रा में होते हैं पर कैलौरी की मात्रा बेहद कम होती है । इस कारण यह हमारे शरीर को जरूरी ऊर्जा तो देती हैं लेकिन फैट बढ़ने नही देती ।
इसके कोई भी हानिकारक प्रभाव नहीं है।लेकिन फिर भी इसे कभी भी कच्चा नही खाना चाहिए, इसको कच्चा खाने से परजीवी या बेक्टेरिया संक्रमण फैल सकता हैं ।
कमल ककड़ी को अलग अलग नामों से जाना जाता है english में इसे  lotusstem बोलते हैं और कश्मीर में नदरु और सिंधी में इसे भीह bhee कहा जाता हैं ।आज हम कमल ककड़ी की सब्जी सिंधी स्टाइल में बनाएंगे । जो प्याज और टमाटर की ग्रेवी से बनती है ।

CUSINE :- INDIAN SINDHI RECIPE
COURSE :- MAIN COURSE
DIET :- VEGETARIAN
KEYWORD :- KAMAL KAKDI KI SABJI
EQUIPMENTS USED :- PRESSURE COOKER
PREPRATION TIME :- 15 MINUTES
COOK TIME :- 25 MINUTES
TOTAL TIME :- 40 MINUTES
SERVINGS :- 4-5 people

INGREDIENTES::-

भीय पटाटा ( भीय आलू ) की सब्जी बनाने के लिए आवश्यक सामग्री

1) कमल ककड़ी :- 250 ग्राम
2) प्याज :- 200 ग्राम
3) टमाटर :- 200 ग्राम
4) आलू :- 200 ग्राम
5) हरी मिर्च :- 2
6) हरा धनिया :- 2 से 3 टीस्पून
7) लाल मिर्च पाउडर :- 1 टीस्पून
8) धनिया पाउडर :- 1 टीस्पून
9) गरम मसाला पाउडर:- 1/2 टीस्पून
10) नमक :- 1 टी स्पून ( स्वादानुसार )
11) रिफाइन्ड तेल :- 1 टेबल स्पून
12) लहसुन अदरक की पेस्ट – 1टीस्पून
(1गिलास गरम पानी कमल ककड़ी साफ करने के लिए + 1गिलास पानी सब्जी  में डालने के लिए )

INSTRUCTION :-

भीय पटाटा की सब्जी बनाने की विधि

1) भीय आलू बनाने के लिए सबसे पहले कमल ककड़ी को अच्छे से छीलकर धो लें, फिर इन्हें 1 ईंच के तिरछे टुकड़ों में काट लीजिए।

THE LOTUS STEM PEEL OUT & CUT DIAGONALLY

 PEEL THE OUTER LAYER OF THE LOTUS STEMS  &  CUT DIAGONALLY    

2) अब इन कटे हुए टुकड़ो को अच्छे से धोकर साफ कर लीजिए। फिर इन्हें उबले हुए पानी में डालें और 15 से 20 मिनिट तक ढककर रख दें।
Keep it into boiled water for 15 to 20 minutes

KEEP IT INTO BOILED WATER FOR 15 TO 20 MINUTES  

3) प्याज को छिलकर और धोके लम्बा लम्बा काट लीजिए । फिर टमाटर को भी छोटे छोटे टुकड़ों में काट लीजिए । आलू को थोड़े बड़े टुकड़ो में काट लीजिए । और साथ में हरी मिर्च को भी बारीक काट लें । इस तरह सारी सब्जियां काटकर तैयारी कर ले।

Cut the all vegetables

CUT THE ONIONS, TOMATOES, POTATOES & GREEN CHILLIES 

4) अब कमल ककड़ी को पानी से निकाल दें और एक बार फिर से साफ पानी से धो लें। ( अगर अब भी लगे कि कमल ककड़ी के छिद्रों में मिट्टी है तो टूथ पिक से साफ कर ले। )

 

Separate the lotus stem from the water

SEPARATE THE LOTUS STEM FROM THE WATER

5) अब गैस पे प्रेशर कुकर को गरम होने के लिए रखें, इसमें तेल डालें, तेल गरम होने पर लहसुन अदरक का पेस्ट डालें, फिर इसमें लम्बी कटी हुई प्याज़ डालें, प्याज को चलाते हुए हल्का गुलाबी होने तक भूने ।

Saute the onion on a medium flame

SAUTE THE ONIONS TILL TURN LIGHT PINK

6) जब प्याज हल्का गुलाबी हो जाए तब इसमें कटी हुई कमल ककड़ी( bhee) डालकर 2 बड़े चमच्च पानी डालें और कुकर का ढ़क्कन बंध कर दे high फ्लेम पे एक सिटी आने तक पकने दें, फिर गैस की आँच धीमी कर दे,और 4 से 5 मिनिट तक पकने दे फिर गैस को बंद कर दे।

Add the pieces of lotus stems

ADD THE PIECES OF LOTUS STEMS    

7) कुकर की सिटी निकलने पर ढक्कन खोले और फिरसे कुकर को गैस पर रखे, फिर इसमें कटे हुए टमाटर और कटे हुए आलू के टुकड़े डालें, कटी हुई हरी मिर्च को भी डाल दें, फिर सब्जी को 3 से 4 मिनिट चलाते हुए अच्छे से भुने ।
Add the chopped potato & tomatoes

ADD THE CHOPPED TOMATOES & POTATO PIECES 

8) 4 मिनिट के बाद गैस की आँच धीमी कर दे और इसमें नमक, धनिया पाउडर, लाल मिर्च पाउडर डालकर 5 से 6 मिनिट सब्जी को लगातार भुने अगर इस बीच कुकर की तली में मिश्रण चिपकता है तो 2 चमच्च पानी डालें ।
Add the spices

ADD THE  SALT, RED CHILLI POWDER & CORIANDER POWDER THEN ROST THE VEGETABLE CONTINUOUSLY FOR 5 MINUTES

9) जब सब्जी के ऊपर तेल तैरने लगे तब इसमें 1 गिलास पानी डाल दीजिए, फिर इसमें गरम मसाला पाउडर और हरा धनिया डालकर कुकर का ढक्कन बन्द कर दे ।अब गैस को मीडियम आँच पे रखें और 2 सिटी आने तक पकने दें फिर धीमी आंच पर 3 से 4 मिनिट तक पकाए । 4 मिनिट के बाद गैस की आँच बन्द कर दे ।
Add the water when oil starts floating on the vegetable

WHEN THE OIL STARTS FLOATING  ON THE VEGETABLE THEN PUT 1 GLASS OF WATER IN IT 

10) कूकर की सीटी निकलने पर ढक्कन खोले और कमल ककड़ी को हाथ से दबाकर चेक करें, अगर हाथ से दबाने से टूटती है यानी कमल ककड़ी अच्छी तरह से पक गई है और ग्रेवी की consentency भी चेक करें ।

11) अब इस तैयार की हुई सब्जी को सर्विंग प्लेट में डाले और ऊपर से थोडे  हरे धनिया की पत्ती से गार्निश करें ।
  Sindhi Bhee Aloo की सब्जी सर्व करने के लिए तैयार है । इसे गरमा गरम चावल के साथ सर्व करें ।
सुझाव :-
1) कमल ककड़ी को खरीदते समय ध्यान रखें कि देखने में सफेद हो और साइज में थोड़े मोटे हो ।अगर कमल ककड़ी पतली होंगी तो जल्दी पकेगी नहि और स्वाद में भी अच्छी नहि लगेंगी । हो सके तो कमल ककड़ी के दोनों किनारे बंध हो तो इससे कमल ककड़ी में कोई भी गंदगी नहीं जाएगी ।
2) कमल ककड़ी के छिलके को जरूर हटाएँ अगर छिलका नही हटाएंगे तो खाने के टाइम इसके रेशे मुँह में आएंगे ।
3) कमल ककड़ी को गरम पानी में जरूर धोएं अगर फिर भी इसके छिद्रों में मिट्टी दिखे तो टूथ पिक से निकाल दें ।
4) सब्जी बन जाने के बाद यह खास ध्यान रखें कि कमल ककड़ी अच्छे से पक जानी चाहिए अगर उसमे थोड़ा भी कच्चापन लगें तो जरूरत के हिसाब से कुकर की 1 या 2 सिटी ओर लगाए ।
 आप भी कमल ककड़ी की सब्जी को बनाकर  जरूर ट्राय करें ।

★★ If you like this recipe, you can also try other recipes such as :-

Thank you so much for reading & visiting our recipe blog!

WRITE YOUR OPINION! YOUR REVIEWS ARE HEARTILY INVITED.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: